I MISS YOU

0
89636942707549
I miss you by shayarix
I miss you by shayarix

I MISS YOU – ye dard bhari sad shayari ek heart broken ladki ke dil ke jazbat bayan karti hai. jo ek ladke se bahut pyar karti hai pr samaj ke dabav me akar dono juda ho gaye hain. wo ladke se fariyad kr rahi hai ki “wo laut aye uske bina wo jee nahi pa rahi”.

I Miss You

“कभी-कभी मन रूआंसा हो जाता है लड़की का, उसकी इस इच्छा पर कि वो “तुम्हारे साथ बुढा होना चाहती है”. प्रेम तुमसे बेहिसाब है उसे प्रिय…. बस… तुम्हारे बिना उसका बूढ़ा होना विश्वासघात सा होगा उसके ही जीवन के साथ…..”

जो भी कहता है महोब्बत में खुदा रहता है…
उसको नादान समझती है सयानी दुनिया…
पहले निर्दोष फ़रिश्तों को सज़ा देती है… 
बाद में रो रो कर सुनाती है कहानी दुनिया….

हमनें तो बस इतना ही चाहा की मेरा और उसका साथ हो जाये…
वो मेरी मांग में भर कर सिंदूर, जिंदगीभर के लिए मेरी सोहबर में खो जाये…

मगर फिर क्यों ये दुनिया वालों ने हमें एक दूसरे से दूर कर दिया…
आज एक दूजे को देखना तक नसीब नहीं है.. हमें इतना मजबूर कर दिया….

जान से ज्यादा चाहते हैं एक दूसरे को फिर ये लोग हमें एक साथ चलने तक नही देते हैं…
आज की तारिख में भी करते हैं जात धर्म की बातें ये अनपढ़ लोग दस्तूर बदलने क्यों नहीं देते हैं…

मै भी जानती हूँ की ये लोग हमें मिलने नहीं देंगे…
जहाँ हर तरफ खून बिखरा हैं वहां ये प्यार के फूल ख़िलने नहीं देंगे….

मगर मैं फिर भी तुमसे कहना चाहती हूँ की मैं बिन तुम्हारे जी ना पाऊँगी….
मैं ज़हर हंस कर पी लूँगी मगर ये घूँट जुदाई का पी ना पाऊँगी….

तुम लौट आओ हम इकट्ठे बैठ कर कोई न कोई रास्ता निकाल लेंगे…
जो हालत बिगड़ रहे हैं हमारे दरमियाँ हम उन्हें किसी भी हद से गुजर कर सम्भाल लेंगे…

हम अगर आज हार गये तो कल लोग महोब्बत के नाम से दूर भागेंगे…
आज हम ने कदम ना आगे बढाया तो भला महोब्ब्बत करने वाले कैसे जागेंगे…

मैं तुम्हारे बिन एक पल भी जी नही सकती…
तुम कैसे भी करके मेरे पास लौट आओ अब मैं और जुदाई का जहर पी नहीं सकती…

चले आओ के तुम बिन अब मेरा जीने का मन नही करता है…
एक रात भी ना कटती है बिन तुम्हारे.. पूरी जिंदगी का सोच कर ही डर लगता है….

तुम जहाँ ले चलोगे मैं वहां ख़ुशी से रह लूँगी…
वादा करती हूँ हम पर जितनी भी मुसीबतें आयेंगी मैं सब हंस कर सह लूँगी…

हम इन नफ़रत करने वालों से दूर कोई प्यार का नया जहाँ बसायेंगे…
एक बार यहाँ से चले जाएँ फिर हम लौट कर इनके पास कभी ना आएंगे……

I miss you i am alone without you

Jo bhi kehta hai mahobbat me khuda rehta hai… Usko nadan samjhti hai shayani duniya…
Pehle nirdosh farston ko saza deti hai.. baad me ro ro kr sunati hai kahani duniya…..

Hamne to bas itna hi chaha ki mera aur uska sath ho jaye…
Wo meri maang me bhar kr sindur, zindagi bhar ke liye meri sohbar me kho jaye….

Magar fir kyun q ye duniya walon ne hame ek dusre se door kar diya…
Aaj ek duje ko dekhna tak naseeb nhi hai.. hame itna majbur kr diya..

Hum dono jaan se jyada ek dusre ko chahte hain fir bhi ye log hame ek sath chalne tak nahi dete hai…
Aaj ki tarikh me bhi karte hain jaat dharm ki baaten ye anpadh log dastoor badlne kyun nahi dete hai….

Mai bhi janti hun ki ye log hame milne nahi denge…
Jahan har taraf khoon bikhra hai wahan pr ye pyar ke phool khilne nahi denge…..

Magar main fir bhi tumse kahna chahti hun ki main bin tumhare jee na paungi…
Main zahar hans ke pee lungi magar ye ghoont judai ke pee na paungi….

Tum laut aao hum ikathe baith kar koi na koi rasta nikalenge…
Jo halat bigad rahe hain hamare darmeyan hum unhe kisi bhi had se gujar kr sambhalenge….

Hum agar aaj haar gaye to kal ko log mohabbat ke naam se door bhagenge….
Aaj hum ne hi kadam na aage badhaya to bhala mohabbat karne wale kaise jagenge….

Main tumhare bin ek pal bhi jee nahi sakti…
Tum kaiSe bhi mere paas laut awo … Ab main aur judai ka jehar pee nahi sakti….

Chale aao ke tum bin ab mera jeene ka man nahi karta hai…..
Ek raat bhi na kat ti hai bin tumhare… puri zindagi ka soch kar hi dar lagta hai….

Tum jahan le chaloge main wahan khushi se rah lungi….
Wada karti hun. Ham pr jitni bhi musibten ayegi mai sab hans kr seh lungi….

Read this alsoWOH CHALI GAYI

Ham In nafrat karne walon se dur koi pyar ka naya jahan basayenge….
Ek baar yahan se chale jayen fir hum laut kar inke pas kabhi na aayenge……

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here